Stories 2022

गुरु तेग बहादुर जी शहीदी दिवस

साधनि हेति इति जिनि करी। सीसु दिया पर सी न उचरी। गुर नानक देव जी ने सिखी का उदय किया था। इसी गुरु परंपरा की श्रेणी में गुरु तेग बहादुर जी सिखों के नौवें गुरु कहलाए। गुरु तेग बहादुर ने धर्म की रक्षा हेतु अपना जीवन बलिदान कर दिया। श्री गुरु तेग बहादुर जी की शहादत इतिहास में अतुलनीय है। वह एक महान विचारक, योद्धा, पथिक व आध्यात्मिक व्यक्तित्व के धनी थे। जिन्होंने धर्म, मातृभूमि और जनता के अधिकारों की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। गुरु तेग बहादुर जी को हिंद की चादर कहा जाता है, जिसका अर्थ है "भारत की ढाल"। वर्ष 1675 में, दिल्ली के चांदनी चौक पर मुगल बादशाह औरंगजेब द्वारा गुरु तेग बहादुर जी की हत्या की गई थी।

Check events by Dates
Check events by Category

History is best served daily, see you tomorrow!